दिल्ली दंगा: विज़न 2026 ने दंगों में हुए नुकसान के बाद सलमान को एक नई शुरुआत करने में सहायता की

 

-अंसर इमरान

रोजगार की तलाश में 2001 में बिहार से सलमान नाम का एक युवा दिल्ली आया. यहां आकर उसने अपनी मेहनत से शास्त्री नगर में एक रेस्टोरेंट शुरू किया। बहुत जल्द ही वह रेस्टोरेंट अच्छा चलने लगा. बाद में सलमान अपने परिवार के साथ चांद बाग में रहने लगा.

दिल्ली दंगों से कुछ दिन पहले उसके रेस्टोरेंट के मालिक ने दुकान खाली करने को कहा. वह दुकान का रिनोवेशन का कराना चाहता था. सलमान ने दुकान खाली करी और अपना रेस्टोरेंट का सारा सामान एक गाड़ी में लोड करके अपने घर की तरफ जाने लगा. भजनपुरा के आसपास दंगाइयों ने उसे रोका और उसके सारे सामान को लूट लिया।

अगले दिन भोर में जब वह फजर की नमाज के बाद घर लौट रहा था तो दंगाइयों ने उसके पैर में गोली मार दी और वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया. उसका इलाज चला और वह अब ठीक हो गया है मगर इन दिल्ली दंगों ने उसके कारोबार और उसकी जिंदगी को उथल-पुथल कर दिया।

सलमान की हालत फिर से 2001 की तरह ही हो गयी थी जैसे दिल्ली आने के समय थी. अब उसकी कमाई का कोई साधन नहीं था.

ऐसे में विज़न 2026 की टीम ने सलमान की मदद के लिए हाथ बढ़ाया. विज़न2026 ने सलमान को दोबारा होटल शुरू करने में सहयोग किया.

नई उम्मीदों के साथ आज सलमान ने ज़ाफराबाद में विजन 2026 की मदद से दोबारा से रेस्टोरेंट शुरू कर दिया है. विज़न 2026 ने दंगों की मार में उजड़ चुके एक परिवार को फिर से अपने पैरों पर खड़े होने में मदद की है.

By- Ansar Imran